स्कूल में राष्ट्रगीत गायन के दौरान मुस्लिम छात्रों द्वारा लगायें गये ‘अल्लाहु अकबर’ के साथ साथ अन्य इस्लामी नारे ! विरोध जताने पर हिंदू छात्र की पिटाई ! स्कूल के प्रधानाध्यापक, पुलिस प्रशासन लापरवाह !

Taldi-Arup haldar - Copyस्कूल में प्रार्थना के दौरान राष्ट्रगीत ‘जन गण मन’ गाया जा रहा था ‍। उस वक़्त बारहवीं कक्षा के 10-12 छात्र राष्ट्रगीत न गाकर ‘अल्लाहु अकबर’ के साथ साथ अन्य इस्लामी नारे लगा रहे थे। उन्हें ऐसा करते देख एक हिंदू छात्र ने विरोध जताया। नतीजतन उन मुस्लिम छात्रों ने मिलकर उस हिंदू छात्रों की बेधड़क पिटाई कर दी जिसकी वजह से उसकी नाक से खून बहने लगा। यहां तक कि उसके सीने में भी गंभीर चोट पहुंची जिसके चलते उसे अस्पताल में भर्ती करवाना पड़ा।

यह घटना दक्षिण 24 परगना (पर.बंगाल) जिले के कैनिंग थानांतर्गत तालदी मोहनचंद्र उच्च विद्यालय में घटी।
स्थानीय सूत्रों से पता चला है कि पिछले 18 जुलाई को स्कूल में प्रार्थना के वक़्त नौवीं कक्षा के समीप बारहवीं कक्षा के कुछ मुस्लिम छात्र आकर क़तार में खड़े हो गए। निर्धारित समय पर राष्ट्रगीत गायन शुरू हुआ। परंतु राष्ट्रगीत गाने की बजाय उन मुस्लिम छात्रों ने ‘अल्लाहु अकबर’ के साथ साथ एकाधिक इस्लामी नारे लगाना शुरू कर दिया। उन्हें ऐसा करते देख नौवीं कक्षा के अरूप हालदार नामक एक हिंदू छात्र ने एतराज जताया, जिससे आपा खोकर सफ़ीकुल गाजी व आसादुल्लाह गाजी की अगुवाई में बारहवीं के मुस्लिम छात्रों ने उसकी बेधड़क पिटाई कर दी। अरूप हालदार की नाक फटकर ख़ून बहने लगा,सर व सीने पर भी गंभीर चोटें पहुंची।खबर मिलने पर स्कूल के प्रधानाध्यापक व अन्य शिक्षक वहां भागे आये और फ़ौरन अरूप को कैनिंग अस्पताल ले गया, जहां से इलाज के बाद उसे छोड़ दिया गया।इसी दरम्यान वहां पुलिस भी पहुंची। लेकिन अचरज की बात तो यह है कि प्रधानाध्यापक संजय नस्कर अरूप के अभिभावकों पर मामले को आपस में निपटा लेने के लिए दवाब डालने लगा पर उनके राजी न होने पर पुलिस ने एक मुस्लिम छात्र को हिरासत में ले लिया और उसे थाने ले गई।साथ ही पुलिस अस्पताल से अरूप को भी थाने ले आई।
बहरहाल किसी अज्ञात कारणवश उसी रात को ही हिरासत में लिए गए छात्र सफ़ीकुल गाजी को थाने से छोड़ दिया गया। दूसरी ओर थाने में ही अरूप के हालत बिगड़ने पर उसे फिर से कैनिंग अस्पताल में दाखिल करवाया गया, जहां आज भी उसका इलाज चल रहा है।
ग़ौरतलब है कि इस घटना में प्रधानाध्यापक संजय नस्कर की भूमिका वाक़ई संतोषजनक नहीं रही। मुस्लिम छात्रों के अपराध को नजरंदाज करते हुए उन्होंने उनके खिलाफ किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की।
पिछले नवंबर महीने में भी स्कूल के निकट स्थित गाजीपाड़ा मोहल्ले के मुस्लिम छात्रों ने रबि हालदार नामक हिंदू छात्र से बेधड़क मारपीट की थी। किंतु प्रधानाध्यापक महोदय के कार्रवाई न करने पर आक्रोशित हिंदू छात्रों ने स्कूल में तोड़फोड़़ भी की थी। उक्त घटना के उपरांत प्रधानाध्यापक की साज़िश के चलते रबि हालदार को आजतक माध्यमिक की परीक्षा में बैठने नहीं दिया गया।
हिंदू संहति के स्थानीय प्रतिनिधि ने उक्त स्कूल की विभिन्न कक्षाओं के छात्रों से बातचीत कर प्रधानाध्यापक के खिलाफ हिंदू छात्रों के आक्रोश का जायजा लिया। हिंदू छात्रों ने प्रधानाध्यापक पर कार्रवाई और उनकी बदली की मांग की। इसके अतिरिक्त दोषी मुस्लिम छात्रों पर पुलिस द्वारा कार्रवाई की मांग भी की गई।