कोलकाता में विस्फोटक बरामदगी के मामले में बसिरहाट से गिरफ़्तार रविउल इस्लाम

विस्फोटक लदा वाहन(मेटाडोर) पकड़े जाने के मामले में स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने एक और संदिग्ध को ग़िरफ़्तार किया ।
आरोपी का नाम है रविउल इस्लाम। विस्फोटक बरामदगी के मामले में इसे लेकर कुल तीन आरोपियों की गिरफ्तारी हुई ‌।
पुलिस सूत्रों के मुताबिक उत्तर 24 परगना जिलांतर्गत बसिरहाट के भारत-बांग्लादेश सीमावर्ती इलाके से रविउल इस्लाम को गिरफ़्तार किया गया। पकड़े गए वाहन चालक व खलासी से पूछताछ करने पर जांचकर्ताओं को रविउल के बारे में पता चला।
पता चला कि रविउल ने ही विस्फोटक पदार्थ पोटैशियम नाइट्रेट लाने का काम सौंपा था‌।  जब्त किए गए 1000 किलोग्राम पोटैशियम नाइट्रेट के जखीरे को भारत-बांग्लादेश सीमावर्ती इलाके में जमा किया जाना था।
पुलवामा की दर्दनाक यादें अब भी ताज़ा हैं। ये यादें धुंधली पड़ने से पहले ही घटित हुई कोलकाता में शुक्रवार को विस्फोटक से लदे वाहन के पकड़े जाने की घटना। कोलकाता पुलिस के स्पेशल टास्क फोर्स ने टाला ब्रिज के निकट विस्फोटक से लदे इस मेटाडोर को पकड़ा । उक्त वाहन के अंदर से 27 बैगों में रखा 1000 किलोग्राम पोटैशियम नाइट्रेट बरामद किया गया।गुप्त सूत्रों से मिली सूचना के आधार पर शुक्रवार रात को एसटीएफ ने यह विशेष मुहिम चलाकर उक्त वाहन को पकड़ा और वाहन चालक व खलासी को गिरफ़्तार किया।
पूछताछ के दौरान आरोपियों से पता चला कि पश्चिम मिदनापुर से इस गिरोह को चलाया जा रहा था‌। ओडिशा के बालेश्वर से विस्फोटक का यह ज़ख़ीरा लाया जा रहा था। उत्तर 24 परगना के किसी एक स्थान पर इसे ले जाने की योजना थी। इसके बाद ही एसटीएफ ने बसिरहाट के सीमावर्ती इलाके से रविउल को गिरफ़्तार किया।